Education

Museology Me Career Kaise Banaye- यंहा से करें कोर्स

Career in Museology- क्या आप मुजियोलॉजी मे कैरियर बनाना चाहते हैं। अगर आप Museology Me Career Kaise Banaye इसके बारे में जानकारी चाहते हैं तो आप राइट पोस्ट पढ़ रहे हैं। इस पोस्ट में आपको Museology Me Career Kaise बनाएं इससे रिलेटेड सारी इंफॉर्मेशन मिलेगी। जैसेकि Museology Me Career Scope क्या है। इसके लिए बेस्ट कॉलेज कौन से हैं। इस क्षेत्र में Career बनाने के लिए कौन सा कोर्स करना होगा। कोर्स की फीस क्या होगा इन सभी के बारे में आप बिस्तृत रुप से जान पाएंगे और आप आसानी से अपने कैरियर के डिसीजन ले पाएंगे।

Museology Me Career kaise banaye

म्यूजियोलॉजी में कैरियर की शुरुआत आप 12वीं के बाद कर सकते हैं। अगर आप किसी भी स्ट्रीम से 12th पास कर चुके हैं तो आप म्यूजियोलॉजी या आर्कियोलॉजी, हिस्ट्री से जुड़े कोर्स कर इस फील्ड में सुनहरा कैरियर बना सकते हैं। फॉरेन या क्लासिकल लैंग्वेज जैसेकि पर्शियन, संस्कृत, लैटिन, ग्रीक, अरेबिक, इटैलियन, जर्मन, फ्रेंच में से आपको अगर किसी भी लैंग्वेज की जानकारी है तो इस सेक्टर में आपको अपनी इस एक्स्ट्रा स्किल का फायदा मिलेगा।

इसके अलावा आप इस क्षेत्र से संबंधित डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स भी कर सकते हैं। बैचलर डिग्री कोर्स की अवधि 3 साल और डिप्लोमा 1साल तथा सर्टिफिकेट 6 माह से लेकर 1 साल तक कि अवधि के हो सकते हैं।
मुजियोलॉजी एंड आर्कियोलॉजी कोर्स की फीस 5 हजार से 20 हजार प्रतिबर्ष के आस- पास होती है।

Course for Career in Museology

बैचलर ऑफ आर्ट्स इन मुजियोलॉजी एंड आर्कियोलॉजी

Secrets Tips

बीए इन मुजियोलॉजी

बीए इन आर्कियोलॉजी

पीजी डिप्लोमा इन मुजियोलॉजी एंड कंजेर्वेसन

पीजी डिप्लोमा इन मुजियोलॉजी एंड हिस्ट्री ऑफ इंडियन आर्ट

Secrets Tips

एडवांस डिप्लोमा इन आर्कियोलॉजी एंड मुजियोलॉजी

एमए इन मुजियोलॉजी

एमए इन आर्कियोलॉजी

एमफिल इन मुजियोलॉजी एंड आर्कियोलॉजी

पीएचडी इन मुजियोलॉजी एंड आर्कियोलॉजी

Career Scope in Museology

पश्चमी देशो में मुजियोलॉजी यानिकि संग्रहालय विज्ञान काफी प्रचलित है लेकिन अब हमारे देश मे भी इसका महत्व बढ़ रहा है। इसलिए इसमें कैरियर की संभावनाएं भी बढ़ रही हैं। अब तो सरकारें भी राष्ट्रीय धरोहर के संरक्षण में काफी योगदान दे रही हैं। इसके साथ ही हमारे देश मे प्राइवेट गैलरी भी तेजी से बढ़ रही हैं। जंहा पर भी रोजगार की तलाश की जा सकती है।

देश मे हजारों म्यूजियम हैं जोकि लोगों को रोजगार प्रदान करते हैं। जिसमे केंद्र, राज्य और जिले स्तर, प्राइवेट और ट्रस्ट टाइप के म्यूजियम शामिल हैं।

गवर्नमेंट सेक्टर में जैसेकि नेशनल म्यूजियम, मॉनीटरी म्यूजियम, आरबीआई, इंडियन म्यूजियम, सालारजंग म्यूजियम में जॉब हासिल करने के लिए आपको एसएससी व यूपीएससी की परीक्षाओं को पास करना होगा। इसके अलावा आप एमफिल व पीएचडी कर टीचिंग और रिसर्च के क्षेत्र में भी सुनहरा कैरियर बना सकते हैं। इसमे कैरियर ऑप्शन भी काफी अच्छे हैं। आप यंहा पर निम्न पदों पर जॉब करने का अवसर पा सकते हैं।

विगत कुछ बर्षों से म्यूजियम का महत्व काफी बढ़ा है। जिससे उनके प्रेजेंटेशन और कांसेप्ट में भी परिवर्तन हुआ है। अब म्यूजियमस को और भी कल्पनाशीलता से मैनेज किया जा रहा है। विरासत और इतिहास के सरंक्षण के प्रति बढ़ती जागरूकता के कारण आर्कियोलॉजिकल, मिलिट्री और वॉर म्यूजियम्स, आर्ट, मैरीटाइम, साइंस एंड टेक्नोलॉजिकल के मैनजमेंट के लिए प्रोफेशनल लोगों की डिमांड बढ़ी है। अगर आपको हिस्ट्री में दिलचस्पी है तो म्यूजियोलॉजी आपके लिए बेहतरीन ऑप्शन है।

म्यूजियम यानिकि संग्रहालय, ऐतिहासिक, वैज्ञानिक और कलात्मक महत्व की कलाकृतियों और बस्तुओं को सहेजकर रखने के लिए बनाए जाते है और इन कार्यो को अंजाम देने वाले प्रोफेशनल म्यूजियोलॉजिस्ट के रुप में जाने जाते हैं।

Career option in Museology

रिसर्चर

टीचर

क्यूरेटर

म्यूजियम डायरेक्टर

कन्जर्वेशन स्पेशलिस्ट

एगजिबिट डिजाइनर

आर्किविस्ट

Skills For Career in Museology

यह फील्ड ऐसे स्टूडेंट्स के लिए है, जिनको हिस्ट्री में इंटरेस्ट हो साथ ही धैर्यवान होना भी जरूरी है। आपको इस क्षेत्र में अन्य देशों के अन्य क्षेत्रों में यात्रा भी करनी हो सकती है, इसके लिए तैयार रहें। इसलिए आपको विदेशी भाषाओं की जानकारी हो तो ज्यादा अच्छा है। खासकर इंग्लिस पर अच्छी पकड़ हो। कला को पहचानने की दक्षता आपको हासिल हो।

Museology क्या है?

म्यूजियम (संग्रहालय) तथा उनमें रखी बस्तुओं को मैनेज और व्यवस्थित करने की पढ़ाई को Museology कहा जाता है। इस प्रकार मुजियोलॉजी Musium Science हैं जिसके अंतर्गत म्यूजियम के मैनजमेंट एंड एडमिनिस्ट्रेशन के बारे में सिखाया जाता है।

म्यूजियोलॉजिस्ट्स के कार्य प्रशिक्षण दिया जाता है।

इस कोर्स के दौरान स्टूडेंट्स को क्यूरेशन, आर्ट, जूलॉजी, बॉटनी, हिस्ट्री, एंथ्रोपोलॉजी के कलेक्शन को मैनेज करने के बारे में

इस प्रकार म्यूजियोलॉजिस्ट्स म्यूजियम्स में क्यूरेटर्स की तरह कार्य कर सकते हैं, जहां पर उनको म्यूजियम में कैटलागिंग और कलाकृतियों को सही तरह से व्यवस्थित करना होता है, साथ ही म्यूजियम बस्तुओं को अलगअलग सेक्शन्स में बांटने और उनके बारे में विस्तृत जानकारी देने की जिम्मेदारी भी इन्ही की होती है। शोध के लिए आने वाले रिसर्चर को संदर्भ सामग्री उपलब्‍ध करने और देखरेख तथा प्रशासन के अन्य कार्य भी इनकी जिमेदारी में शामिल होते हैं।

Best College for Museology Course

नेशनल म्यूजियम इंस्टीट्यूट, न्यू दिल्ली

नेशनल रिसर्च लैबोरेट्री फॉर कंजर्वेशन एंड कल्चरल प्रॉपर्टी, लखनऊ

स्कूल ऑफ आर्काइवल स्टडीज, न्यू दिल्ली

सेंटर फॉर म्यूजियोलॉजी एंड कंजर्वेशन, जयपुर (राजस्थान)

कलकत्ता यूनिवर्सिटी

तमिल यूनिवर्सिटी

जीवाजी यूनिवर्सिटी, ग्वालियर

महाराज सायजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ौदा

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी

असम यूनिवर्सिटी

राजस्थान यूनिवर्सिटी

जम्मू यूनिवर्सिटी

विश्व भारती यूनिवर्सिटी, बेस्ट बंगाल

मद्रास यूनिवर्सिटी

हेमवतीनंदन बहुगणा यूनिवर्सिटी, उत्तराखंड

केरला यूनिवर्सिटी

यूनिवर्सिटी ऑफ मौसूर

आंध्र यूनिवर्सिटी

गुरुगोविन्द सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी

पटना यूनिवर्सिटी

कर्नाटक यूनिवर्सिटी

careermotto

A self-motivated and hard-working individual, I am currently engaged in the field of digital marketing to pursue my passion of writing and strategising. I have been awarded an MSc in Marketing and Strategy with Distinction by the University of Warwick with a special focus in Mobile Marketing. On the other hand, I have earned my undergraduate degrees in Liberal Education and Business Administration from FLAME University with a specialisation in Marketing and Psychology.

Related Articles

Back to top button